Ticker

6/recent/ticker-posts

विरोध करने के लिए विरोध नहीं अच्छे काम की तारीफ भी होनी चाहिए••योगी ने किया एक अच्छा काम

विरोध करने के लिए विरोध नहीं अच्छे काम की तारीफ भी होनी चाहिए••योगी ने किया एक अच्छा काम

डी पी सिंह/सतीश शर्मा 

 सहारनपुर। विरोध करने के लिए विरोध नहीं होना चाहिए, अगर आपका कोई फैसला अच्छा है तो उसकी तारीफ भी होनी चाहिए। उत्तर प्रदेश योगी सरकार ने एक अच्छा फैसला लिया है तो उसकी तारीफ होनी चाहिए। उक्त विचार पश्चिम प्रदेश निर्माण संयुक्त मोर्चा के वरिष्ठ नेता विरेन्द्र चौधरी पत्रकार ने कही।

समाचार के अनुसार योगी सरकार ने हाल में एक फैसला लिया है, जिसमें अगर छात्र स्कूल नहीं आ रहा है तो टीचर उसके अभिभावकों से मिलने उनके घर पहुंचेगें। योगी आदित्यनाथ ने फैसला लिया है अगर कोई छात्र लगातार तीन दिन तक स्कूल नहीं आता तो टीचर छात्र के अभिभावक से फोन करके जानकारी लेंगे। अगर कोई छात्र लगातार ६ दिन तक स्कूल नहीं आता है तो टीचर छात्र के घर जायेंगे और अभिभावक से बातचीत करेंगे। अगर कोई छात्र अपने छोटे भाई बहन की देखरेख के कारण स्कूल नहीं आ रहा है तो उसके भाई बहन को आंगनबाड़ी केंद्र में प्रवेश कराया जायेगा। आपको बता दें कि तमाम परिषदीय विद्यालयों में चल रहे आंगनबाड़ी केंद्रों को फ्री प्राईमरी स्कूलों में बदला गया है।

महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद की ओर से सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी किया गया है कि स्कूलों में उपस्थिति बढ़ाई जाये। आदेश में यह भी कहा गया है कि प्रत्येक विकासखण्ड के कार्यालय में लगे बोर्ड पर उस ब्लाक के ऐसे पांच स्कूलों के नाम लिखे जायें जहां विधार्थियों की संख्या सबसे ज्यादा होगी,उन स्कूलों के प्रधानाचार्य का नाम भी लिखे जायें। विरेन्द्र चौधरी पत्रकार ने कहा यह योगी आदित्यनाथ सरकार का बेहतरीन फैसला है। इससे स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति तो बढ़ेगी ही, शिक्षा स्तर में भी विकास होगा।

पश्चिम प्रदेश निर्माण आंदोलन से जुड़ने के लिए संपर्क करें, विरेन्द्र चौधरी पत्रकार 8057081945//9410201834

Post a Comment

0 Comments