Ticker

6/recent/ticker-posts

सहारनपुर मे यूपी जोडो यात्रा को लेकर चर्चा करते कांग्रेस के पदाधिकारी••20 दिसम्बर को मां शाकम्भरी देवी से शुरू होगी कांग्रेस की यूपी जोड़ा यात्रा: साबरी

सहारनपुर मे यूपी जोडो यात्रा को लेकर चर्चा करते कांग्रेस के पदाधिकारी••20 दिसम्बर को मां शाकम्भरी देवी से शुरू होगी कांग्रेस की यूपी जोड़ा यात्रा: साबरी

विरेन्द्र चौधरी 

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में प्रस्तावित यूपी जोड़ो यात्रा का शुभारम्भ आगामी 20 दिसम्बर को सिद्धपीठ मां शाकम्भरी देवी मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ किया जाएगा। 25 दिवसीय यूपी जोड़ो यात्रा को सफल बनाने के लिए कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल व प्रदेश उपाध्यक्ष विदित चौधरी ने सहारनपुर पहुंचकर यात्रा मार्ग का निरीक्षण कर पार्टी पदाधिकारियों को समुचित दिशा-निर्देश दिए।

 ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के पूर्व सदस्य व पूर्व जिलाध्यक्ष जावेद साबरी ने आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि कांग्रेस द्वारा भारत जोड़ो यात्रा की तर्ज पर यूपी जोड़ो यात्रा निकाली जाएगी, जिसका शुभारम्भ आगामी 20 दिसम्बर को मां शाकम्भरी देवी मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ किया जाएगा। यात्रा के सहारनपुर आगमन पर उनके नेतृत्व में विजय टाकिज पर यात्रा का भव्य स्वागत किया जाएगा।

 जावेद साबरी ने बताया कि यात्रा गंगोह पहुंचकर ईदगाह रोड तिराहे से कुरैशियान चैक, शिव चैक, मेटाडोर स्टैंड, बड़े मदरसे के पास से होते हुए लखनौती रोड, मखदूम जहां होते हुए हजरत शाह कुतुबे आलम की दरगाह पर पहुंचेगी जहां विशाल जनसभा का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यात्रा 21 दिसम्बर को देवबंद होते हुए पुरकाजी पहुंचेगी। श्री साबरी ने बताया कि कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव प्रदीप नरवाल व प्रदेश उपाध्यक्ष विदित चौधरी ने आज कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय सचिव व पूर्व विधायक इमरान मसूद, जिलाध्यक्ष चौ. मुजफ्फर अली व उनके साथ यूपी जोड़ो यात्रा के मार्ग का निरीक्षण कर यात्रा को सफल बनाने के लिए पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। 

उन्होंने बताया कि यूपी जोड़ो यात्रा 20 दिसम्बर से शुरू होकर 9 जिलों से होती हुई 25 दिनों तक चलेगी जिसे लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ-साथ आम जनता में भी उत्साह है क्योंकि कांग्रेस का परम्परागत वोट दलित व मुस्लिम तेजी से कांग्रेस के साथ जुड़ रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के कार्यकाल में दलित व मुस्लिमों में असुरक्षा की भावना पनप रही है जिसे लेकर दलित व मुस्लिम कांग्रेस को ही एकमात्र विकल्प मान रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments