Ticker

6/recent/ticker-posts

जब वीरपाल जाट ने बताया किस्सा, सर्वधर्म ने बजायी तालियां,किस्सा सुनो वीरपाल जाट की दरियादिली का और संगठन की ताकत का

 जब वीरपाल जाट ने बताया किस्सा, सर्वधर्म ने बजायी तालियां,किस्सा सुनो वीरपाल जाट की दरियादिली का और संगठन की ताकत का

विरेन्द्र चौधरी

शामली। मां शाकम्बरी देवी मंदिर से पश्चिम प्रदेश निर्माण यात्रा का शुभारंभ होकर पश्चिम प्रदेश निर्माण यात्रा पहुंची ‌शामली। कार्यक्रम के बाद जलपान करते हुए विश्व जाट एकता महासभा के अध्यक्ष वीरपाल जाट ने एक किस्सा सुनाया जो आप सबके लिए सुनना और पढ़ना जरूरी है,ताकि आपको अपने कर्तव्यों का बोध हो और संगठन की ताकत का पता चल सके।

किस्सा कुछ इस तरह है कि उनके गांव के आसपास से एक पंडित जी का फोन आया कि उनके बेटे का हाई वे पर एक्सिडेंट हो गया है। पुलिस उसे लेकर नोएडा के फ्राटिज हास्पिटल में गई है। पंडित जी ने वीरपाल जाट को बताया उनके २१ वर्षीय एक ही बेटा है और इसका रिश्ता भी हो चुका है। उसके सिर में चोट है। पैसे के अभाव में बचने की उम्मीद नहीं है। फार्टिज हास्पिटल में इलाज के लिए 7 लाख मांगे हैं, उनके पास 7 हजार रुपए भी नहीं है।उनकी मदद करें।

संगठन की ताकत

वीरपाल जाट ने दयालुता या अपना फर्ज समझते हुए मात्र 10 मिनट में हास्पिटल पहुंच कर 7 लाख का चैक जमा करा बच्चे का इलाज शुरू करा दिया। उस ब्राह्मण के बेटे की जान बच गई।अगले दिन वीरपाल जाट ने अपने जाट बिरादरी के ग्रुपो में मैसेज कर बच्चे की मदद के लिए मात्र 100 रूपये प्रति सदस्य संगठन के खाते में डालने की रिक्वेस्ट की। वीरपाल जाट ने बताया कि मात्र एक रात में संगठन के खाते में 19 लाख रूपये आ गये। तो ये है संगठन की ताकत।

दोस्तों अगर आप एक अच्छा सामाजिक जीवन जीना चाहते हो तो संगठन के बिना आप अधूरे हो। ये खबर आपको अच्छी लगे तो आगे ग्रुपों में शेयर जरूर करना ताकि आगे भी लोग एक दूसरे की मदद करते रहे और समाज को वीरपाल जाट जैसे करेक्टर मिलते रहे।


Post a Comment

0 Comments