Ticker

6/recent/ticker-posts

सरकार किसानों व जाटों के कंधे पर बंदूक रखकर चलाने का घिनौना प्रयास कर रही है, जाट समाज बर्दाश्त नहीं करेगा - अशोक मलिक

 सरकार किसानों व जाटों के कंधे पर बंदूक रखकर चलाने का घिनौना प्रयास कर रही है जाट समाज बर्दाश्त नहीं करेगा-अशोक मलिक,सरकार को संचालित करने वाली विश्व हिंदू परिषद संगठन का देश की आजादी में कोई योगदान नहीं था-धीर सिंह


विरेन्द्र चौधरी/प्रमोद शेखावत 

सहारनपुर। अंबाला रोड स्थित ग्राम भाउपुर में आर्य जाट समाज कल्याण समिति की बैठक का आयोजन किया गया जिसमें चौधरी बख्तावर सिंह जी को जाट समाज का जिला अध्यक्ष सहारनपुर चौधरी कृपाल मलिक को महासचिव और चौ धीरज सिंह को कोषाध्यक्ष का सर्व समिति से सभी को पुनः चुनाव किया गया

बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय जाट महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉक्टर अशोक मलिक ने कहा कि वर्तमान सरकार किसानों व जाटों के कंधे पर बंदूक रखकर चलाने का घिनौना प्रयास कर रही है जाट समाज बर्दाश्त नहीं करेगा यदि भाजपा सरकार किसानों की हिमायती होती तो 14 महीने तक दिल्ली के बॉर्डर पर आंधी तूफान बारिश लूहे धूंध कोहरा सभी को बर्दाश्त करते हुए 700 किसानों ने शहादत दी है एक बार भी देश के प्रधानमंत्री ने 700 किसानों की शहादत पर अफसोस जाहिर नहीं किया था यदि किसी परिवार में पालतू जानवर किन्हीं कारणों से मर जाता है तो संवेदनाएं व्यक्त करते हुए मालिक अफसोस जाहिर कर दुख होता है यदि सरकार महिलाओं व जाटों के प्रति जरा सी भी संवेदना रखती तो देश की आन बान शान को बढ़ाने वाली महिला पहलवानों को जंतर मंतर पर घसीट घसीट कर पीटा जा रहा था एक बार भी देश के प्रधानमंत्री व जाट समाज के सर्वोच्च कुर्सी पर बैठने वाले नेताओं को जाटों की किसानों और महिलाओं के प्रति संवेदना व्यक्त नहीं की थी आज 2024 का चुनाव सर पर है इसलिए राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए सरकार की संवेदना जाग गई है जो घटनाक्रम हुआ है वह देश की सर्वोच्च पंचायत सदन में नहीं होना चाहिए यह जाटों और किसानों का ही नहीं वल्कि उपराष्ट्रपति पूरे देश का होता है इसलिए पूरे देशवासियों का अपमान हुआ है और इस पर सरकार को भी और विपक्ष को भी माफी मांगनी चाहिये क्योंकि सरकार ने ऐसी घटना घटित करने के लिए विपक्ष को मजबूर किया है जिसकी हम कड़े शब्दों में निंदा करते हैं

   किसान नेता चौधरी धीर सिंह व चौधरी बख्तावर सिंह ने कहा कि  वर्तमान सरकार को को चुनाव से पूर्व ही देश की जनता को लड़ने के लिए आपस में लड़ने के लिए यह हथियार क्यों याद आते हैं जाट समाज जमीन का सीना चीर कर देश के लिए अन पैदा करता है और जाट समाज के अधिकतर नौजवान शिक्षित युवक सेवा में भर्ती होकर देश की रक्षा करने का काम करते हैं सरकार को संचालित करने वाली विश्व हिंदू परिषद संगठन का देश की आजादी में कोई योगदान नहीं था कोई कुर्बानी नहीं दी इसलिए आज फिर सरकार खून की होली खेल कर दोबारा सत्ता हासिल करना चाहती है गोधरा कांड पुलवामा हमला और मुजफ्फरनगर कांड आदि इस सब का उदाहरण है इसलिए सरकार इन सब को याद दिलाने का काम कर देती है और हिंदू और मुसलमान और राष्ट्रभक्ति का राग  गाकर सत्ता हासिल करने के अलावा कोई और मकसद नहीं है जनता समझ चुकी है अब जनता सुखचैन की जिंदगी जीना पसंद करते हैं राजनीतिक रोटियां सेकने वालों से जनता सचेत हो चुकी है

बैठक को चौधरी धीरज सिंह चौधरी यतेंद्र पंवार चौधरी कृपाल सिंह चौधरी धर्मेंद्र उर्फ पिंटू चौधरी कृष्ण कुमार बबलू सिंह  नाथू सिंह ठेकेदार चौधरी अरविंद मलिक चौधरी सुखबीर सिंह एडवोकेट ने भी संबोधित किया

      इस अवसर पर प्रवीण चौधरी मोनू कुमार हरेंद्र चौधरी राजेंद्र चौधरी सचिन चौधरी चौधरी भोपाल सिंह चौधरी पवन कुमार चौधरी इकबाल सिंह चौधरी सुरेंद्र रविंदर धर्मेंद्र सत्यपाल राजपाल किरण पाल नीरज कुमार सूरज चौधरी हेमंत चौधरी सोनू सागर चौधरी आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता चौ सुखबीर सिंह व संचालन चौधरी धर्मेन्द्र उर्फ पिंटू ने किया।


 

Post a Comment

0 Comments