Ticker

6/recent/ticker-posts

24 नवंबर 1990 को पुलिस ने मुझे लठ दिखा कर धमकाया था अयोध्या गये तो.... राजेश जौहरी

24 नवंबर 1990 को पुलिस ने मुझे लठ दिखा कर धमकाया था अयोध्या गये तो.... राजेश जौहरी 

विरेन्द्र चौधरी 

सहारनपुर। राजेश जौहरी पूर्व मंडल अध्यक्ष अनुसूचित मोर्चा भारतीय जनता पार्टी ने आज फेसबुक के माध्यम से रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा पर अपार खुशी जाहिर करते हुए बाबरी विध्वंस से लेकर आज तक की खुशियां और तकलीफों को ब्यान करते हुए कहा कि राम लला की प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव आयोजित करके भाजपा ने बता दिया कि भाजपा जो कहती है वो करती है। हम खुश है।

भाजपा नेता ने अपनी खट्टी-मीठी यादें फेसबुक के माध्यम से कुरेदते हुए कहा हमने मुलायम सिंह की गोलियां चलती हुई भी देखी 30 नवंबर 1990 पांच कर सेवक मारे गए। हमने ऋतंभरा जी का जोश भरा भाषण भी देखा।हमने आडवाणी जी का रथ यात्रा का आशीर्वाद भी देखा।हमने हमने मुरली मनोहर जोशी जी का मार्गदर्शन भी देखा।हमने विनय कटिहार जी का संबोधन भी देखा सुना। हमने मुख्यमंत्री 6 दिसंबर 1992 (ढांचा विध्वंस) कल्याण सिंह का प्यार भरी हुंकार भी देखा। हमने जब जय श्री राम का नारा लगाया नारा लगाने पर पुलिस की लाठियां भी जेल भी देखी। 24 नवंबर 1990 को पुलिस ने मुझे गागलहेड़ी पुलिस ने लठ दिखाकर धमकाया की अयोध्या गए तो 25 मुकदमे लाद दूंगा लेकिन हम गए यह भी देखा। 6 दिसंबर 1993 को विधर्मियों ने मेरी दुकान पर डोडे पोस्त रखकर मुझे गिरफ्तार भी कराया यह कष्टदायक समय भी हमने देखा। हमने अटल जी की लोरिया कविता सुनी। हमने मोदी जी और योगी जी के द्वारा राम मंदिर भी बनते हुए देखा। जय श्री राम कहते हुए आज मेरा ही नहीं हर हिंदू और राष्ट्रवादी का सिन्हा चौड़ा है,कि भाजपा ने रामलला को पुनः स्थापित कर दिया है।


Post a Comment

0 Comments