Ticker

6/recent/ticker-posts

स्वामी, वैष्णव तथा बैरागी समाज कल्याण समिति ने बैठक कर लिया बड़ा फैसला

 संपूर्ण स्वामी, वैष्णव तथा बैरागी समाज कल्याण समिति की बैठक में समाज में पनप रही कुरीतियों पर चर्चा••••दहेज व मृत्यु भोज जैसी कुरीतियां त्यागे समाज: भोपाल सिंह

ओ पी जैन/संजीव विश्वकर्मा 

सहारनपुर/नागल। रेलवे रोड स्थित एक इंटर कॉलेज प्रांगण में आयोजित संपूर्ण स्वामी, वैष्णव तथा बैरागी समाज कल्याण समिति की बैठक में समाज में पनप रही कुरीतियों पर चर्चा करते हुए दहेज व मृत्यु भोज पर प्रतिबंध लगाने की अपील की गई। 

राष्ट्रीय अध्यक्ष भोपाल सिंह ने समाज को लेकर चिंतन व्यक्त करते हुए कहा कि बड़ी विडंबना है कि कहीं हमें स्वामी समाज के नाम से जाना जाता है, किसी क्षेत्र में वैष्णव तो कहीं पर बैरागी समाज के नाम से जाना जाता है, हमें पूरे समाज को संगठित रहते हुए एक नाम देना होगा और अपनी युवा पीढ़ी को नशाखोरी से बचाकर समाज के उत्थान एवं कल्याण को लेकर आगे बढ़ना होगा। उन्होंने कहा कि अन्य जातियों की अपेक्षा हमारा समाज पिछड़ा हुआ है क्योंकि एक जाति के लोग हमारे समाज को गुमराह करके अपने समाज का विकास करने में लगे हैं, जिस कारण हमें अपने बच्चों को ऊंची से ऊंची शिक्षा दिलाकर उन्हें योग्य बनना होगा। 

बैठक में अन्य वक्ताओं ने समाज में फैली शादियों में दान दहेज देना तथा मृत्यु भोज आदि कुरूतियो पर विराम लगाना होगा। बैठक में सर्वसम्मति से ओमप्रकाश वैष्णव प्रदेश उपाध्यक्ष, बलराम स्वामी सहारनपुर मंडल अध्यक्ष, कंवरपाल वैष्णव जिला प्रभारी व बिजेंद्र दीक्षित को संगठन का सहारनपुर जिलाध्यक्ष मनोनीत किया गया।      

कार्यक्रम की अध्यक्षता नरेश स्वामी ने तथा संचालन रवि कुमार एडवोकेट ने किया। इस दौरान उत्तरांचल विश्वविद्यालय कुलपति धर्म बुद्धि, सुमित स्वामी, चरण सिंह स्वामी, जगपाल दत्त स्वामी, कविता स्वामी, एडवोकेट दीपा स्वामी, गीता स्वामी, विजेंद्र दीक्षित वैष्णव, पलटू राम, दीपक स्वामी, सुरेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे। 

पश्चिम प्रदेश निर्माण आंदोलन से जुड़े, आगामी पीढ़ियों के भविष्य को सुरक्षित करें। विरेन्द्र चौधरी पत्रकार 8057081945 9410201834


Post a Comment

0 Comments