Ticker

6/recent/ticker-posts

आईटीआई परिसर में लगायी गयी भव्य प्रदर्शनी,आयोजित हुए विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम, सूचना विभाग द्वारा लगायी गयी उ0प्र0 विकास यात्रा की भव्य प्रदर्शनी

 उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस के अवसर पर मनाया गया समारोह••आईटीआई परिसर में लगायी गयी भव्य प्रदर्शनी,आयोजित हुए विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम••उत्तर प्रदेश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को समर्पित रहीं विकास प्रदर्शनी••उद्यमियों, खिलाडियों, योजनाओं के लाभार्थियों को किया गया सम्मानित••सूचना विभाग द्वारा लगायी गयी उ0प्र0 विकास यात्रा की भव्य प्रदर्शनी••मा0 मुख्यमंत्री जी के संबोधन का हुआ सजीव प्रसारण

विरेन्द्र चौधरी/करन शेखावत 

सहारनपुर। उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस समारोह मनाए जाने के क्रम में राजकीय आईटीआई परिसर में यूपी की विकास यात्रा संबंधी एक भव्य प्रदर्शिनी तथा निवेश एवं रोजगार को समर्पित विकास प्रदर्शिनी, उद्यमी सम्मान, क्रीडा प्रतिभा सम्मान, विभिन्न विकास कार्यक्रमों के लाभार्थी परक योजनाओं के प्रमाण-पत्रों का वितरण तथा लाभार्थीपरक योजनाओं के स्टॉल लगाकर केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी आमजन को उपलब्ध कराई गयी। इसी के साथ विभिन्न विधाओं के सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गये।

प्रदर्शनी का उद्घाटन विधायक शहर श्री राजीव गुम्बर, विधायक रामपुर मनिहारान श्री देवेन्द्र निम, विधायक गंगोह श्री कीरत सिंह, महापौर डॉ0 अजय सिंह, विधान परिषद सदस्य श्री शाहनवाज, जिलाधिकारी डॉ0 दिनेश चन्द्र, मुख्य विकास अधिकारी श्री सुमित राजेश महाजन द्वारा संयुक्त रूप से गणेश जी की प्रतिमा पर दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर उन्होने महात्मा गांधी जी के चित्र पर माल्यार्पण करने के साथ ही दीप प्रज्ज्वलित भी किया।

सूचना विभाग द्वारा उत्तर प्रदेश स्थापना से लेकर अब तक की विकास यात्रा से संबंधित संकलित अभिलेखों की प्रदर्शनी लगायी गयी। इसमें अंग्रेजी शासन काल से उत्तर प्रदेश के विभिन्न नाम, उत्तर प्रदेश का प्रादेशिक विस्तार, मैप के द्वारा उत्तर प्रदेश की संरचना का क्रमिक विकास, 24 जनवरी 1950 को युनाइटेड प्रॉविंसेज से बदलकर उत्तर प्रदेश रखा गया। अंग्रेजों के शासनकाल में अवध पर नियंत्रण एवं संधि, नार्थ-वेस्टर्न प्रॉविंसेज के मुख्यालय को आगरा से इलाहाबाद पुनः स्थानान्तरित करने संबंधी प्रस्ताव, हिन्दी का न्यायालय की भाषा के रूप में प्रयोग 1899, प्रान्त की प्रशासनिक संरचना संबंधी पेश किये गये बिल, श्रीमती सरोजनी नायडू द्वारा आजादी के दिन दिया गये भाषण, उत्तर प्रदेश की रियासतों संबंधी विलय पत्र, उत्तर प्रदेश का नया नाम और भारतीय संविधान के अनुच्छेद 200 के तहत राज्यपाल द्वारा राजकीय प्रयोजनों में हिन्दी भाषा संबंधी स्वीकृति पत्र 1951 की अभिलेखागार में उपस्थित मूल पत्रावलियों के पत्र जो इतिहास निर्माण के साक्षी बने थे। आज की प्रदर्शनी में जनपदवासियों को देखने के लिए प्राप्त हुए। इन पत्रों को देखकर जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों तथा जनसामान्य को अपने उत्तर प्रदेश का विकास देखकर खुशी हुई।

जिला सूचना अधिकारी श्री दिलीप कुमार गुप्ता द्वारा सभी जनप्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों सहित प्रबुद्धजनों को उत्तर प्रदेश की विकास यात्रा संबंधी प्रदर्शनी के बारे में विस्तार से बताते हुए सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं एवं उपलब्धियों के बारे में अवगत कराया गया।

यूपी दिवस के आयोजन में ओडीओपी, खादी ग्रामोद्योग, कृषि विभाग, उद्योग विभाग, पर्यटन विभाग, पंचायती राज विभाग, शिक्षा, ग्राम्य विकास, समाज कल्याण सहित अन्य विकास परक विभागों द्वारा प्रदर्शनी का आयोजन कर योजनाओं के बारे में लोगो को जागरूक किया गया।

इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ0 विपिन ताडा, अपर जिलाधिकारी प्रशासन डॉ0 अर्चना द्विवेदी, ज्वाईंट मजिस्ट्रेट श्री उत्सव आनंद, उप निदेशक कृषि डॉ0 राकेश कुमार, सहित संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण एवं विभिन्न योजनाओं के लाभार्थीगण उपस्थित रहे।


Post a Comment

0 Comments