Ticker

6/recent/ticker-posts

गन्ना मूल्य न बढ़ने से गन्ना किसानों में भारी रोष••पश्चिम में बड़ी लड़ाई की तैयारी--भगत सिंह वर्मा

भाजपा की योगी सरकार गन्ना किसानों को बर्बाद करने पर तुली हुई है••गन्ना मूल्य न बढ़ने से  गन्ना किसानों में भारी रोष••पश्चिम में बड़ी लड़ाई की तैयारी भगत सिंह वर्मा

विरेन्द्र चौधरी 

सहारनपुर -आज यहां ग्राम में एक छप्पर में गन्ना किसानों की एक बैठक को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि इस वर्ष गन्ना उत्पादन कम होने के कारण चीनी मिलों में गन्ना सीजन समाप्ति पर है। और भाजपा की किसान विरोधी सरकार ने अभी तक गन्ने का मूल्य नहीं बढ़ाया है। जिससे गन्ना किसानों में भारी रोज व्याप्त है और उबाल आ रहा है। जो पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बढ़ा गन्ना किसान आंदोलन की तरफ इशारा कर रहा है। 

किसान ने कहा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कोलू और करेशरो गन्ने की कीमत₹400 कुंतल से पार हो चुकी है। जिससे पश्चिमी उत्तर प्रदेश की अधिकांश चीनी मील 9 केन हो रही हैं। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि चीनी मिल मालिक भाजपा की योगी सरकार से बात करके प्रदेश के गन्ना किसानों को लाभकारी मूल्य₹600 कुंतल दिलाने का काम करें। गन्ने का लाभकारी मूल्य ₹600 कुंतल प्रदेश के गन्ना किसानों को नकद आसानी से दिया जा सकता है गन्ना प्रदेश के आर्थिक रीढ़ है। जिससे प्रतिवर्ष प्रदेश सरकार को हजारों करोड रुपए टैक्स के रूप में प्राप्त होता है। प्रदेश की चीनी मिलों पर चालू गन्ना सीजन का 15000 करोड रुपए से अधिक गन्ना भुगतान बकाया है। और पिछले वर्षों में देरी से किए गए गन्ना भुगतान पर लगा ब्याज उत्तर प्रदेश की 121 चीनी मिलों पर 16000 करोड रुपए ब्याज बकाया है। जिसे दिलाने के लिए प्रदेश सरकार गंभीर नहीं है जिसका परिणाम भारतीय जनता पार्टी को 2024 के लोकसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा। प्रदेश के गन्ना किसान गन्ने का मूल्य ने बढ़ने से आक्रोशित हैं जो कभी भी रूप धारण कर सकते हैं। 

भगत सिंह वर्मा ने चीनी मिल मालिक भारतीय जनता पार्टी की सरकार और गन्ना विभाग को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार गन्ने का लाभकारी मूल्य ₹600 कुंतल तत्काल घोषित करें चीनी मिलों से नकद गन्ना भुगतान दिलाए और चीनी मिलों में हो रही घट तोली को बंद करें। और गन्ना किसानों को ब्याज दिलाने का काम करें जब तक गन्ना किसानों की समस्याएं हल नहीं होगी तब तक गन्ना किसानों का संघर्ष जारी रहेगा।

 बैठक की अध्यक्षता ताहिर हसन ने की और संचालन भारतीय किसान यूनियन वर्मा के प्रदेश महामंत्री असीम मलिक ने किया। बैठक में महानगर अध्यक्ष मोहम्मद जहीर तुर्की मोहम्मद हारुन जुल्फिकार अली एडवोकेट शाहनवाज अली मोहम्मद फैसल शाह आलम मोहम्मद दिलशाद अकरम अली मुकर्रम अली रिजवान अहमद अफजाल अहमद सुमित वर्मा अमरदीप मान जोगेंद्र सिंह कालू सिंह जगपाल सिंह आदि ने भाग लिया।

विज्ञापन::होम लोन, पर्सनल लोन, बिजनेस लोन के लिए संपर्क करें विरेन्द्र चौधरी 8057081945


Post a Comment

0 Comments