Ticker

6/recent/ticker-posts

पश्चिम प्रदेश निर्माण आंदोलन को गति देने के लिए कोर कमेटी ने बनाई रणनीति, सांसदो को लोकसभा में आवाज उठाने को किया जाएगा मजबूर

पश्चिम प्रदेश निर्माण आंदोलन को गति देने के लिए कोर कमेटी ने बनाई रणनीति •• जगह-जगह चर्चाएं,बैठकों व निर्माण यात्रा के माध्यम से दिया जा रहा क्षेत्रीय सांसदो को ज्ञापन 

विरेन्द्र चौधरी 

 नोएडा। पश्चिम प्रदेश निर्माण संयुक्त मोर्चा लगातार अपनी शक्ति को बढ़ाने व पश्चिमांचलियो को जागरूक करने के लिए जगह-जगह बैठक, चर्चाएं व प्रत्येक जिले में शनिवार व रविवार को निर्माण यात्रा कर क्षेत्रीय सांसद को ज्ञापन सौंप रहा है,ताकि सांसदों को लोकसभा में आवाज उठाने के लिए मजबूर किया जा सके।

इसी क्रम में आज केन्द्रीय कार्यकारिणी की एक बैठक प्रकाश हास्पिटल नोएडा में आयोजित की। जिसमें संगठन की मजबूती के लिए निम्न बिन्दुओं पर चर्चा कर फाइनल रूप दिया। आने वाले थोड़े समय में ही पश्चिम प्रदेश निर्माण मोर्चा का वजूद दिखाई देने लगेगा। जिन बिंदुओं पर चर्चा के बाद अमल में लाया जायेगा, निम्न बिंदु है। चर्चा में यह भी तय पाया गया कि कोई भी व्यक्ति मिलकर या सोशल मीडिया के माध्यम से संगठन को मजबूत करने के लिए अपनी सलाह दे सकता है।

1. 27 जिलों में मजबूत जिला टीम हो और उनकी कार्यकारिणी कार्य करने वाली हो। 2. केंद्रीय कार्यालय का निर्माण निश्चित हो। 3. जो भी केंद्रीय कार्यकारिणी में पदाधिकारी जुड़े वो समर्पित हो। 4. आने वाले समय मे जन यात्रा जारी रहे। 5. आने वाले लोकसभा के चुनाव पर विचार विमर्श हो 6. मोर्चा से जुड़कर सदस्य कैसे प्रभावी हो 7. जिले में बड़ा सेमिनार का आयोजन हो। 8. युवाओं और जन मानस तक बात कैसे पहुंचे। 9. एक सभी लाभ हानि का पाम्पलेट बने 10. IT टीम का जिले में गठन हो। 11. जब भी यात्रा किसी जिले में जाये तो उन्हें वहां की टीम ठीक प्रकार से व्यवस्था करें। 12. 16 फरवरी तक का  मोर्चा कार्यक्रम का विवरण बने। 13. कोर कमेटी के इंटरव्यू हो। 14. ज्ञापन राष्ट्रपति के नाम बने। 15. यात्रा में हुए खर्च का विवरण सुनाया। 16. बरैली, मुरादाबाद मंडल में जागृति हो। 17. शॉर्ट फिल्म के माध्यम से संदेश देना। उक्त जानकारी संगठन के केन्द्रीय महासचिव अ०प्रा० कर्नल सुधीर कुमार द्वारा जारी की गई।

Post a Comment

0 Comments