Ticker

6/recent/ticker-posts

शर्मनाक::सम्पत्ति हड़पने के लिए जीजा ने साथियों संग मिलकर की थी इकलौते साले की हत्या, तीन गिरफ्तार...

 सम्पत्ति हड़पने के लिए जीजा ने साथियों संग मिलकर की थी इकलौते साले की हत्या, तीन गिरफ्तार...

पुरूषोत्तम शर्मा 

_हसनावाला के समीप नदी के रेत में दबे मिले अज्ञात शव के मामले का बुग्गावाला पुलिस ने आज खुलासा कर दिया है। सम्पत्ति हड़पने के लिए जीजा ने साले की हत्या अपने साथियों के साथ मिलकर की थी। पुलिस ने इस सनसनीखेज मामले में आरोपी तीन युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

गौरतलब है कि थाना बुग्गावाला क्षेत्र के गांव हसनावाला में नदी किनारे रेत में दबा हुआ एक अज्ञात युवक का शव बरामद होने पर क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। शव को पंचायतनामा व पहचान कराने के लिए 72 घण्टे रुड़की स्थित मोर्चरी में रखकर बस अड्डा, रेलवे स्टेशन एवं मुख्य-मुख्य स्थानों पर मृतक के पम्पलेट चस्पा किये गये। 2 जनवरी को मकसूद निवासी सिरचन्दी भगवानपुर ने शव को अपना पुत्र मुकीम बताते हुए शिनाख्त की और पोस्टमार्टम के बाद शव का अन्तिम संस्कार कर दिया।

एसएसपी हरिद्वार ने पत्रकारों को बताया कि मृतक की मां की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई तो काफी मशक्कत के बाद शेरपुर खानाजादपुर अड्डा, थाना बिहारीगढ जिला सहारनपुर से हत्या के 3 आरोपियों को आला-ए-कत्ल व घटना में प्रयुक्त वाहन स्वीफ्ट LXI सहित दबोचने में कामयाबी हासिल की। आरोपियों के नाम अमजद पुत्र इखलाक निवासी शेरपुर खानाजादपुर थाना बिहारीगढ़ जिला सहारनपुर साहिर अली उर्फ छोटा पुत्र हमीद निवासी मुकर्रमपुर उर्फ कालेवाला थाना भगवानपुर, हरिद्वार और गुफरान पुत्र फुरकान निवासी शेरपुर खानाजादपुर थाना बिहारीगढ़ जिला सहारनपुर बताया गया है।

पूलिस टीम को पूछताछ में पता चला कि मृतक मुकीम अपने पिता का अकेला बेटा था और बाप के पास मुनाफे वाली काफी जमीन थी। मुकीम के जीजा अमजद ने षड्यंत्र रचकर जमीन की वसियत अपने नाम करवायी। मुकीम की शादी तय होने की खबर मिलने पर अमजद को लगा कि अब प्रॉपर्टी हाथ से चली गई। प्रॉपर्टी बचाने के लिए मृतक के जीजा ने अपने साथियों के साथ मिलकर 29 दिसंबर की रात में मुकीम की हत्या कर शव को हसनावाला नदी किनारे रेत में दबा दिया। पुलिस टीम में मुख्य रूप से थानाध्यक्ष बुग्गावाला मनोज शर्मा, उपनिरीक्षक बिजेन्द्र सिंह, हैड कांस्टेबल कुन्दन सिंह, कुश कुमार, मनोज यादव, रविन्द्र भण्डारी, रमेश राणा, विक्रम सिंह, हरिओम, विकास और चालक अमित सेमवाल शामिल रहे। सीआईयू टीम रुड़की से उप निरीक्षक दिलवर नेगी, हैड कांस्टेबल कपिल कुमार और सुरेश रमोला शामिल रहे।


                   

Post a Comment

0 Comments