Ticker

6/recent/ticker-posts

हक और न्याय की लड़ाई लड़ोगे तो तुम्हें बतायेंगे गदर पार्टी के लोग, घबराना नहीं -- विनोद पहलवान,PPNM ने तैयार की आंदोलन की आगामी रूपरेखा

 हक और न्याय की लड़ाई लड़ने सड़कों पर आओगे तो लोग तुम्हें गदर पार्टी बताने लगेंगे •• विनोद पहलवान, इतिहास उठाकर देख लो लड़ने वाले होते हैं चंद लोग •• कर्नल सुधीर कुमार, पीपीएनएम की निर्माण यात्रा को मिल रहा भारी समर्थन,हम बढ़ रहे जीत की ओर •• एड० सत्य पाल यादव, शांतिपूर्ण आंदोलन नहीं अब कुछ विस्फोट करना होगा •• विरेन्द्र चौधरी


विरेन्द्र चौधरी/वीरेंद्र भारद्वाज 

मेरठ। जब आप अपनें हक और न्याय के लिए सड़कों पर आयेंगे तो हो सकता है आपको भी कुछ लोग गदर पार्टी के लोग साबित करने में लग जायेंगे। आज़ादी से पहले भी ऐसा ही हुआ था। उक्त उदगार राष्ट्रीय खेल मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद पहलवान ने पश्चिम प्रदेश निर्माण संयुक्त मोर्चा की एक बैठक में कही। बताते चले कि आज हवेली फार्म हाउस मेरठ में पश्चिम प्रदेश आंदोलन की आगामी रूपरेखा तैयार करने के लिए पदाधिकारियों की एक बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता सेंट्रल एक्शन कमेटी फॉर इस्टेब्लिशमेंट ऑफ हाईकोर्ट बैंच इन वेस्टर्न यूपी कुंवर पाल शर्मा व संचालन अ०प्रा० कर्नल सुधीर कुमार ने किया।

संचालन करते हुए अ०प्रा० कर्नल सुधीर कुमार ने कहा कि आज जो अलग राज्य की लड़ाई लड़ रहे है, आसान नहीं है। क्योंकि जिनके लिए हम लड़ाई लड़ रहे है वो आंदोलन के प्रति उदासीन है। कर्नल सुधीर ने कहा किसी भी लड़ाई का इतिहास उठाकर देख लो, लड़ने वाले चंद लोग ही होते है,वो हमारे साथ है। उन्होंने कहा प्रदेश पुनर्गठन की लड़ाई लंबी हो सकती है लेकिन अत: जीत हमारी ही होगी।

मोर्चा के केन्द्रीय अध्यक्ष एडवोकेट सत्य पाल यादव ने कहा कि इस लड़ाई में हमारे साथ अलग-अलग मिशन को लेकर चल रहे लगभग 16 संगठन से अधिक पश्चिम प्रदेश निर्माण आंदोलन के साथ इस लड़ाई में शामिल हैं। उन्होंने आंदोलन की जानकारी देते हुए बताया कि निर्माण यात्रा विधानसभा नंबर 1 सहारनपुर से प्रारंभ होकर शामली, मुजफ्फरनगर, बदायूं, बुलंदशहर, अलीगढ़ पहुंच गयी है, जहां संगठन द्वारा सांसदो को ज्ञापन सौंपा गया। और आगे भी यात्रा जारी है।एड० यादव ने कहा यात्रा के जरिए हम सोये हुए लोगो को जगाने का काम कर रहे है, इसमें हमें भारी समर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा इस संघर्ष में जीत निश्चित है।

हाईकोर्ट बैंच के लिए आंदोलन चला रहे मेरठ बार एसोसिएशन अध्यक्ष कुंवर पाल शर्मा ने कहा मेरा सुझाव है कि आंदोलन से उन लोगो को जोड़ा जाये जो वंचित समाज से है। उनके सहयोगी बने बिना लड़ाई जीतना मुश्किल है। उन्होंने कहा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में निर्माण यात्रा जहां जहां जायेगी, वहां वहां बार एसोसिएशन के  पदाधिकारी एवं सदस्य आपको सहयोग करेंगे, मैं उनके सहयोग के लिए आपको आश्वस्त करता हुं।

शामली से पधारे मोर्चा के अध्यक्ष राम पाल देशवाल ने सभी को विश्वास दिलाया कि उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी वो पूरी ईमानदारी से उसका निर्वहन करेंगे। क्योंकि हमें लक्ष्य को प्राप्त करना है। अनिरूद्ध मलिक, रोहित कुमार ने संयुक्त ब्यान में कहा कि इस आंदोलन को गांव-गांव,गली गली से जोड़ने के साथ ही शहरी क्षेत्रों में भी जनसंपर्क कर जन जागरण करना होगा। उन्होंने कहा हमें सामाजिक संगठनों व मीडिया को भी साथ लेकर चलने की जरूरत है।

सहारनपुर से आये मोर्चा के मीडिया प्रभारी विरेन्द्र चौधरी  पत्रकार ने कहा शांतिपूर्ण आंदोलन से काम नहीं चलने वाला, इसके लिए कुछ विस्फोट करना होगा, विस्फोट की आवाज सुनकर ही जनता बाहर निकलेगी।जिस दिन जनता घरो से बाहर आ गयी उस दिन लड़ाई आसान हो जायेगी और जीत की दिशां में चलने लगेगी। सहारनपुर मंडल अध्यक्ष साबिर अली खान ने फोन पर आश्वासन दिया कि वो भले ही कारोबारी सिलसिले से चाइना में है लेकिन,दिल और दिमाग संगठन और आंदोलन के साथ है। उन्होंने कहा विदेश से लौटते ही वो आंदोलन में तेजी लायेंगे।

खेल मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद पहलवान ने कहा कि जब देश की आजादी का आंदोलन चला तो मुश्किल से 3000 लोग आंदोलन में शामिल थे, जबकि उस वक्त देश की जनसंख्या 35 करोड़ होगी। आंदोलनकारियों को निष्क्रिय लोगो ने गदर पार्टी का नाम दिया।ये स्थिति हमारे साथ भी आनी है, इससे घबराने की जरूरत नहीं है। आप जागरूक लोगो को लेकर आंदोलन जारी रखें हमें अपने मकसद में कामयाबी हासिल होगी। 

इस अवसर पर तय पाया गया कि 15 फरवरी से 20 फरवरी के बीच दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में आंदोलन को तेज करते हुए पूर्णतया बंद करा सरकार को मोर्चे की ताकत का अहसास कराया जाये ताकि सरकार प्रदेश पुनर्गठन को मजबूर हो। बैठक में महीपाल सिंह कुड़ाना, विनोद पहलवान, युधिष्ठिर पहलवान, चिंटू मेरठ, सुरेन्द्र पाल सिंह,पदम राठी,रवि राठी,राम पाल सिंह शामली, अनिरूद्ध मलिक शामली, रोहित कुमार शामली, एडवोकेट कुंवर पाल शर्मा सहित दर्जन भर आंदोलनकारियों ने अपने अपने सुझाव रखे।


Post a Comment

0 Comments