Ticker

6/recent/ticker-posts

उत्तर प्रदेश के किसान भी बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहे- भगत सिंह वर्मा

किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य दिलाये केंद्र सरकार •• उत्तर प्रदेश के किसान भी बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहे- भगत सिंह वर्मा


विरेन्द्र चौधरी 

देवबंद।आज यहां ग्राम गंगदासपुर जट में किसानों की एक बैठक को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि कृषि प्रधान देश भारतवर्ष में देश के अन्नदाता किसानों की भारी उपेक्षा भाजपा की केंद्र सरकार कर रही है। 

भगत सिंह वर्मा ने कहा मोदी जी के 10 वर्ष के कार्यकाल में देश के चंद कॉर्पोरेट घरानों के मोदी सरकार 15 लाख 45 हजार करोड रुपए माफ कर सकती है तो सरकार की गलत नीति के कारण देश के कर्जमंद अन्नदाता किसानों का 24 लाख करोड रुपए भी मोदी सरकार माफ करें। नहीं तो इस बार देश के किसान भाजपा की केंद्र सरकार से आर पार की लड़ाई लड़ने के मूड में है। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि महान कृषि वैज्ञानिक और हरित क्रांति के जनक डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करके केंद्र सरकार देश के अन्नदाता किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य दिलाने की व्यवस्था करें। एक कुंतल गेहूं एक समय में 1000 लोगों का भोजन है। इस हिसाब से गेहूं का मूल्य कम से कम ₹5000 कुंतल होना चाहिए। आज से 15 वर्ष पहले बासमती 1121 का प्रति कुंतल मूल्य ₹4600 कुंतल था, जो आज घटकर ₹3000 कुंतल हो गया है। बासमती धान का प्रति कुंतल मूल्य ₹6000 कुंतल होना चाहिए। 

भगत सिंह वर्मा ने किसानों व मजदूरों के सभी कर्ज माफ करने किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य दिलाने राष्ट्रीय आय आयोग का गठन करने मनरेगा योजना को सीधा खेती से जोड़कर किसानों को मजदूर उपलब्ध कराने सभी फसलों की लाभकारी मूल्य के आधार पर एम एस पी घोषित करके उसे गारंटी कानून बनाने 58 वर्ष से अधिक बुजुर्ग  किसान मजदूर को प्रतिमा ₹5000 प्रतिमा पेंशन दिलाने सभी हाईवे व सड़कों से टोल टैक्स समाप्त करने देश की 140 करोड़ जनता को निशुल्क शिक्षा व निशुल्क चिकित्सा दिलाने देश में लगातार बढ़ रही गरीबी महंगाई भ्रष्टाचार व बेरोजगारी पर अंकुश लगाने राजनीति में ईमानदारी स्थापित करने और कमीशन खोरी रोकने की मांग की। भगत सिंह वर्मा ने अपने हकों के लिए कल 13 फरवरी को जाति बिरादरी धर्म राजनीतिक पार्टियों व दलों से ऊपर उठकर किसान मजदूर व्यापारी छोटे दुकानदार युवा छात्र भारी संख्या में दिल्ली पहुंचकर आंदोलन को मजबूत करें और पंजाब और हरियाणा के किसानों का साथ दें। 

बैठक की अध्यक्षता चौधरी बाबूराम ने की और संचालन अमित कुमार ने किया। बैठक में पदम सिंह, रविंद्र सिंह, भूपेंद्र सिंह, महेंद्र सिंह,दीपक चौधरी,आजाद सिंह पप्पू, हिमांशु, सुभाष शर्मा, टीटू शर्मा, जितेंद्र,  आकाश चौधरी, अभिषेक चौधरी, प्रदीप चौधरी, आदि ने भाग लिया।

होम लोन पर्सनल लोन बिजनेस लोन लैप लोन के लिए संपर्क करें कांटेक्ट नंबर 8057081945


Post a Comment

0 Comments