Ticker

6/recent/ticker-posts

किसान आक्रोशित और आंदोलित, प्रदेश से भी शुरू होगा बड़ा आंदोलन भगत सिंह वर्मा

शंभू बॉर्डर पंजाब आंदोलन के मंच से भगत सिंह वर्मा ने उठाई गन्ना मूल्य और भुगतान की मांग •• प्रदेश से भी शुरू होगा बड़ा आंदोलन भगत सिंह वर्मा

विरेन्द्र चौधरी 

सहारनपुर नागल -आज यहां रमेश चौधरी के निवास पर भा कि यू वर्मा की बैठक में किसानों को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार के किसान विरोधी रवैया के चलते देश का किसान आंदोलित और आक्रोषित है। 13 फरवरी से आज तक पंजाब के लाखों किसान अपना घर बार और खेती को छोड़कर अपने ट्रैक्टरों के साथ शंभू बॉर्डर पर डटे हुए हैं। 

शंभू बॉर्डर पर पुन: भारतीय किसान यूनियन वर्मा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने मंच से लाखों किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी जी अपना अहंकार छोड़ते हुए देश के किसानों की समस्याओं को तत्काल हल करें क्योंकि किसान आंदोलन से पीछे हटने वाले नहीं है।आजाद भारत में देश के अन्नदाता किसानों की समस्याओं को हल करने का दायित्व सरकार पर है। जबकि सरकार लगातार किसान मजदूर गरीब विरोधी रवैया अपना रही है। 

भगत सिंह वर्मा ने कहा कि देश के अन्नदाता किसान दिल्ली में राज सत्ता में भागीदारी के लिए नहीं जा रहे हैं देश के अन्नदाता किसानों को केवल उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य कर्ज मुक्ति बुजुर्ग किसानों मजदूरों को वृद्धावस्था पेंशन आवारा पशुओं से किसानों की खेती को बचाने एम एस पी को गारंटी कानून बनाने डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने मनरेगा योजना को सीधा खेती से जोड़कर किसानों को मजदूर उपलब्ध कराने देश में राष्ट्रीय आय आयोग का गठन करने और सभी राज्यों में भी राज्य आयआयोग का गठन करने कृषि कार्य हेतु निशुल्क बिजली दिलाने डीजल पर सब्सिडी देने कृषि यंत्रों ट्रैक्टर से जीएसटी हटाने किसानों पर आंदोलन के दौरान किए गए मुकदमों को वापस लेने लखीमपुर खीरी कांड में दोषी गृह राज्य मंत्री टेनी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने और मृतक किसानों को पर्याप्त मुआवजा दिलाने गन्ने का लाभकारी मूल्य ₹600 कुंतल करने चीनी मिलों से 14 दिन के अंदर गन्ना भुगतान दिलाने और पिछले वर्षों में देरी से किए गए गन्ना भुगतान पर लगा ब्याज चीनी मिलों से गन्ना किसानों को तुरंत दिलाने जैसी समस्याओं के हाल चाहिए। भगत सिंह वर्मा ने कहा कि शंभू बॉर्डर पर हिंदुस्तान पाकिस्तान की लड़ाई जैसा माहौल बना हुआ है। एक तरफ दिल्ली के इशारे पर देश के अन्नदाता किसानों पर आंसू गैस के गोले छोड़े जा रहे हैं और अन्नदाता किसानों को डराया जा रहा है जबकि किसान डरने वाले नहीं है किसान मर जाएंगे पर अपना हक लेकर ही रहेंगे। प्रधानमंत्री मोदी जी को देश के अन्नदाता किसानों से विदेशी  आक्रांताओं के जैसा व्यवहार नहीं करना चाहिए। 

भगत सिंह वर्मा ने कहा कि भाजपा की मोदी सरकार पंजाब हरियाणा के किसानों को अकेले ने समझे सारे देश के अन्नदाता किसान उनके साथ हैं और यह सभी किसानों की समस्या है यदि जल्द ही किसानों की समस्याओं को हल नहीं किया गया तो 2024 में अन्नदाता किसान भाजपा की सरकार को उखाड़ फेंकेंगे। शंभू बॉर्डर पर भा कि यू वर्मा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा के अलावा राष्ट्रीय सलाहकार हाफिज मूर्तजा त्यागी प्रदेश महामंत्री संदीप एडवोकेट प्रदेश सचिव सोनू राजा जिला उपाध्यक्ष वसीम जहीरपुर भी थे। नागल बैठक की अध्यक्षता रमेश चौधरी ने की और संचालन भारतीय किसान यूनियन वर्मा प्रदेश महामंत्री असीम मलिक ने किया। 

बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित नीरज कपिल प्रदेश संगठन मंत्री धर्मवीर चौधरी मंडल उपाध्यक्ष सरदार गुरविंदर सिंह बंटी जिला संगठन मंत्री सुरेंद्र सिंह एडवोकेट जिला मंत्री महबूब हसन हाजी बुद्धू हसन हाजी साजिद डॉक्टर बारीक त्यागी जोगिंदर सिंह चौधरी कालू सिंह जगपाल सिंह हरपाल सिंह रविंद्र चौधरी पदम सिंह ने भाग लिया।



Post a Comment

0 Comments