Ticker

6/recent/ticker-posts

सनसनीखेज खुलासा÷हनीट्रेप में फंसे पत्रकार अब जायेंगे जेल दरोगा और सिपाही से मिलकर करते थे ब्लैकमेलिंग का धंधा

 सनसनीखेज खुलासा÷हनीट्रेप में फंसे पत्रकार अब जायेंगे जेल दरोगा और सिपाही से मिलकर करते थे ब्लैकमेलिंग का धंधा •• दरोगा और सिपाही निलंबित •• पत्रकारिता जगत के लिए शर्म की बात 

विरेन्द्र चौधरी वीरेंद्र भारद्वाज

सहारनपुर/बरेली। बरेली जनपद से एक हनीट्रेप का ऐसा शर्मनाक मामला आया है, जिसने पत्रकारिता जगत को दागदार तो किया ही, सोचने को मजबूर भी कर दिया है कि पत्रकारिता के पवित्र पेशे में कैसे कैसे लोग घुसपैठ कर चुके है।
सनसनीखेज खबर के अनुसार तीन तथाकथित पत्रकार नावेद निवासी भोजीपुरा के धौराटांडा,चांद अल्वी निवासी लीची बाग, गुलाम साबिर निवासी सीबी गंज अपने एक मित्र मुस्तकीम जो रामपुर के शहजाद नगर के रहने वाले है,बरेली के परसाखेड़ी में बेकरी चलाते हैं,के पास गये। उनसे एक युवती से दोस्ती कराने की बात कही। मुस्तकीम के हां कहने पर उन्होंने बाईपास के एक होटल में उसे बुलवाया। जहां युवती पहले से मौजूद थी। कुछ समय तक युवती मुस्तकीम के साथ होटल के कमरे में रही, इसके उपरांत चली गई। मौज मस्ती के बाद जैसे ही मुस्तकीम बाहर आया, तथाकथित तीनों पत्रकारों ने उसे घेर लिया। उसे हनीट्रेप में फंसाने की धमकी दी और एक सिपाही कोलेन्द्र जो पहले से मौके पर मौजूद थे। मुस्तकीम को लेकर किला चौकी आ गये।
आगे की खबर है वहां मुस्तकीम को धमकाया गया। उसे मोटे पैसे की मांग की गई। चौकी प्रभारी से ढाई लाख में सौदा हुआ। पैसे के इंतजाम के बहाने मुस्तकीम किसी तरह चौकी से भाग निकला, सीधे पत्नी के पास पहुंचकर सच्चाई से अवगत कराया। इसके बाद पुलिस से शिकायत की।
पुलिस अधीक्षक राहुल भाटी ने दरोगा और सिपाही को निलंबित कर दिया। तथाकथित पत्रकारों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। और करलो हनीट्रेप,फंस गये ना,अब जेल में चलाना चक्की। हमारी 40 साला पत्रकारिता में कभी पत्रकारों को इतनी घटिया हरकत करते नहीं देखा,जब से सोशल मीडिया आया,तभी से अपवाद को छोड़कर अधिकांश सोशल मीडिया पत्रकार इस तरह के धंधो में लग गए है।ये बड़ी शर्मनाक स्थिति है।
जब तक सत्ता और आर्थिक विकास में भागीदारी नहीं तब तक पूर्ण आज़ादी नहीं, विरेन्द्र चौधरी पत्रकार 

Post a Comment

0 Comments