Ticker

6/recent/ticker-posts

मैं रहुं या ना रहुं - नेता जी की विरासत को बचा लिजिए - शैकी वर्मा, क्यूं आंसू आये इस युवा समाजवादी नेता की


 विरेन्द्र चौधरी/संदीप जोशी 

मेरठ। मैं रहूं या न रहूं समाजवादी पार्टी  रहनी चाहिए। मेरी शीर्ष नेतृत्व से हाथ जोड़कर विनती है कि स्वर्गीय नेता मुलायम सिंह यादव की विरासत को बचा लिजिए। उक्त उदगार शैंकी वर्मा युवा नेता समाजवादी पार्टी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जारी बयान में कही।
शैंकी वर्मा ने आंखो में आंसू लिए शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता से कहीं। वर्मा ने कहा मैं आपके सानिध्य में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी को अलग-अलग पदो पर रहते हुए अपनी सेवाएं देता रहा। सपा और प्रसपा के विलय के बाद मैंने समाजवादी पार्टी की सक्रिय सदस्यता ग्रहण की और राजनीति में सक्रिय रहा। उन्होंने कहा उन्हें दुःख है कि आज कुछ गलत निर्णयों के चलते पार्टी आसमान की ऊंचाइयों से धरातल की और जा रही है।
शैंकी वर्मा ने कहा हमारे स्वर्गीय नेता मुलायम सिंह यादव जी और आपने मिलकर अपने खून पसीने, त्याग और तपस्या से जनता की सेवा करते हुए समाजवादी पार्टी को खड़ा किया है। उन्होंने कहा अब कुछ दलाल किस्म के लोगो का कईं जिलो में पार्टी पर कब्जा सा हो गया है।आज पार्टी कार्यकर्ताओं का दुःख दर्द सुनने वाला कोई नहीं है।
शैंकी वर्मा ने कहा कि मेरठ जिले में बाहरी प्रत्याशी को टिकट दिए जाने के निर्णय के विरोध में अपनी और कईं कार्यकर्ताओं की सैद्धांतिक लड़ाई लड़ते हुए अपने इस्तीफे की पेशकश करता हुं। हाथ जोड़ कर निवेदन करता हुं कि आप समाजवादी पार्टी को बचा लिजिए। मैं रहुं या ना रहुं लेकिन समाजवादी पार्टी रहनी चाहिए।
पृथक राज्य पश्चिम प्रदेश आंदोलन से जुड़ने के लिए संपर्क करें विरेन्द्र चौधरी पत्रकार 9410201834 / 8057081945

Post a Comment

1 Comments