Ticker

6/recent/ticker-posts

किसान भाजपा के एजेंडे में नहीं - किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य नहीं तो भाजपा को वोट नहीं - भगत सिंह वर्मा

किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य नहीं तो भाजपा को वोट नहीं •• अन्नदाता किसान भाजपा के एजेंडे में नहीं - भगत सिंह वर्मा

विरेन्द्र चौधरी/वीरेंद्र भारद्वाज 

देवबंद-आज यहां किसानों की समस्याओं को लेकर भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा के नेतृत्व में धरना प्रदर्शन किया गया।

 प्रदर्शनकारी किसानों को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन वर्मा व पश्चिम प्रदेश मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भगत सिंह वर्मा ने कहा कि कृषि प्रधान देश भारतवर्ष में भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकार जानबूझकर किसानों को गरीब बना रही है। अन्नदाता किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य तो दूर लागत मूल्य भी सरकार नहीं दिला पा रही है। देश के अन्नदाता किसानों को बचाने के लिए डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू किया जाए। भगत सिंह वर्मा ने प्रधानमंत्री मोदी जी के नाम उप जिलाधिकारी देवबंद अंकुर वर्मा को ज्ञापन देते हुए कहा कि देश के अन्नदाता किसानों के सभी कर्ज समाप्त किए जाएं। किसानों को उनकी फसलों का लाभकारी मूल्य दिलाया जाए मनरेगा योजना को सीधा खेती से जोड़कर किसानों को मजदूर उपलब्ध कराए जाएं केंद्र में राष्ट्रीय किसान आय आयोग और प्रदेश में राज्य किसान आय आयोग का गठन किया जाए। बिजली संशोधन विधेयक 2020 को रद्द किया जाए। 58 वर्ष से अधिक के बुजुर्ग किसानों मजदूरों को₹10000 प्रति माह पेंशन दिलाई जाए। आवारा पशुओं से किसानों की खेती को बचाया जाए। कृषि यंत्र ट्रेक्टर बीज खाद डीजल कीटनाशक दवाई से जीएसटी व सभी प्रकार के टैक्स समाप्त किए जाएं। केंद्र सरकार व प्रदेश सरकार किसानों की उन्नति के लिए प्रति माह राजधानी में समीक्षा बैठक किसानों के साथ करें। गरीबी महंगाई भ्रष्टाचार बेरोजगारी को सरकार दूर करें। सभी के लिए शिक्षा और चिकित्सा निशुल्क कराई जाए। हाईवे सड़कों से टोल टैक्स समाप्त कराया जाए। गन्ने का लाभकारी मूल्य ₹600 कुंतल कराया जाए। चीनी मिलों से गन्ना भुगतान 14 दिन के अंदर कराया जाए। पिछले वर्षों में देरी से किए गए गन्ना भुगतान पर लगा ब्याज 17 हजार करोड रुपए प्रदेश के गन्ना किसानों को दिलाया जाए। प्रधानमंत्री मोदी जी शंभू बॉर्डर पर धरना दे रहे हैं लाखों किसानों को ससम्मान दिल्ली बुलाकर बातचीत करके किसानों की समस्याओं को हल करें। दिल्ली हरिद्वार कॉरिडोर हाईवे पर नाफेपुर खेड़ा मुगल में गांव में जाने के लिए अंडरपास बनाया जाए। 

भगत सिंह वर्मा ने कहा कि यदि केंद्र की मोदी सरकार ने जल्द ही किसानों की समस्याएं हल नहीं की तो देश के अन्नदाता किसान भाजपा को वोट नहीं देंगे। जब देश के चंद पूंजीपति कॉर्पोरेट घरानों के साडे 15 लाख करोड रुपए कर्ज माफ हो सकता है तो देश के गरीब किसान मजदूर 25 लाख करोड रुपए भी माफ होने चाहिए। 

धरना प्रदर्शन में भारतीय किसान यूनियन वर्मा के प्रदेश उपाध्यक्ष पंडित नीरज कपिल, प्रदेश महामंत्री आसिम मलिक, प्रदेश सचिव मुहम्मद सोनु राजा, जिला मंत्री महबूब हसन, मोहम्मद सलीम, शौकीन, मनफात रफीक, सुलेमान रिजवान प्यारेलाल मांगेराम बंसी राम सेठपाल कामिल, अयूब, जमशेद, आबाद, सचिन कुमार,अमित कुमार, पदम सिंह, रविंद्र प्रधान, हरपाल सिंह, जोगिंदर सिंह कालू सिंह आदि ने भाग लिया।


Post a Comment

0 Comments