Ticker

6/recent/ticker-posts

हमारे पास डेटा बेस भी डंडा भी, 29 हजार दोषियों को कोर्ट से दिलाई सजा 41 को मृत्यु दण्ड:: डीजीपी प्रशान्त कुमार

 


विरेन्द्र चौधरी

लखनऊ/सहारनपुर। नागरिकता संशोधन एक्ट का नोटिफिकेशन जारी किये जाते ही देश में नागरिकता संशोधन एक्ट लागू हों चुका है। हाल ही में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने जारी बयान में कहा था कि लोकसभा चुनाव से पहले ही सीएए कानून लागू कर दिया जाएगा।
                       हाइलाइट्स
हम किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार, हमारे पास डेटा भी है और डंडा भी
ट्रैनिंग में हम खुब पसीना बहा रहे है खून बहाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी
  हमारी फोर्स और उपकरण पूरी तरह तैयार है

इस संबध में कानून व्यवस्था को लेकर जब उत्तर प्रदेश के डीजीपी प्रशान्त कुमार से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा हमारे पास डेटा भी है और डंडा भी। प्रदेश में पुलिस फोर्स पूरी तरह मुस्तैद है। प्रदेश में कानून व्यवस्था को बिगड़ने नहीं दिया जायेगा। उन्होंने कहा स्थिति से निपटने के लिए हमारे पास डेटा भी है और डंडा भी।
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा हमारी तैयारी हमारी ट्रैनिंग का पार्ट है। ट्रैनिंग में हम जमकर पसीना बहा रहे है, इसके चलते खून बहाने की नौबत नहीं आयेगी। हमारी फील्ड फोर्स हमारे उपकरण पूरी तरह तैयार है,हम किसी भी स्थिति से निपटने को तैयार है। उन्होंने कहा स्थिति को देखते हुए हम सम्मानित नागरिकों, धर्मगुरूओं से भी संपर्क में हैं। सूचनाओं का आदान-प्रदान भी चल रहा है। क्योंकि वार्ता में हर समस्या का समाधान है।
अन्य सवाल का जवाब देते हुए डीजीपी प्रशान्त कुमार ने बताया कि अपराधियों की संपत्ति जब्त करने का कानून तो पुराना कानून हैं, लेकिन उसका सही इस्तेमाल अब किया जा रहा है। उन्होंने कानून की स्थिति का जिक्र करते हुए कहा कि हमने 29 हजार दोषियों को कोर्ट से सजा दिलाई और 41 दोषियों को मृत्यु दण्ड। उन्होंने कहा किसी भी कानून विरोधी गतिविधियों में शामिल दोषियों को हम कोर्ट से सजा दिलवा रहे है।
आज़ादी कोई बकरी का बच्चा नहीं,जिसे पकड़कर तुम्हारी गोदी में डाल देगे, उसके लिए संघर्ष जरूरी है। आंदोलन से जुड़ने के लिए संपर्क करें विरेन्द्र चौधरी पत्रकार 8057081945//9410201834


Post a Comment

0 Comments